देश की राजधानी में रहने वाले 42 प्रतिशत लोगों का महीने का खर्च 10 हजार रुपए से भी कम

राजधानी में रहने वाले 42.59 प्रतिशत लोगों का मासिक खर्च 10 हजार रुपए से कम है। वहीं, 50 हजार से अधिक खर्च करने वाले लोग 1.66 प्रतिशत है। यह जानकारी दिल्ली सरकार के सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण की फाइल रिपोर्ट में सामने आई है।

यह सर्वेक्षण दिल्ली सरकार ने नवंबर 2018 से नवंबर 2019 के बीच कराया। यह रिपोर्ट 20.05 लाख घरो और 1.02 करोड़ जनता के सर्वे पर तैयार की गई। रिपोर्ट के अनुसार 10 से 25 हजार रुपए खर्च करने वाले लोगों की संख्या 47.31 प्रतिशत है। 25 से 50 हजार खर्च करने वाले लोग 8.44 प्रतिशत लोग हैं।

21 प्रतिशत घरों में कम्प्यूटर/लैपटॉप

राजधानी में सिर्फ 21.27 प्रतिशत घरों में कंप्यूटर/लैपटॉप है। इसमें से 80.12 प्रतिशत घर में ही इंटरनेट कनेक्शन का उपयोग होता है। सर्वे के अनुसार दिल्ली में 93.83 प्रतिशत के पास मोबाइल फोन है। वहीं 2.32 प्रतिशत के पास मोबाइल और लैंडलाइन दोनों फोन उपलब्ध है।

एनडीएमसी में सबसे अधिक किराएदार

दिल्ली में 66.63 % के पास अपना मकान है, जबकि 32.38 किराए पर रहते हैं। सबसे ज्यादा किराएदार एनडीएमसी में करीब 62 % हैं। वहीं, सबसे अधिक अपना मकान रखने वालों की आबादी शाहदरा जिले में है, जो 76.37 प्रतिशत है। पूर्वी निगम क्षेत्र में 29.33%, उत्तरी में 29.82% और दक्षिणी में 38.01 % किराए के मकान में रहते है।

एक प्रतिशत खुले में शौच जाते हैं

रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली में अभी भी करीब एक प्रतिशत लोग खुले में शौच करते हैं। सर्वे के अनुसार दिल्ली के 93.34 प्रतिशत घरों के परिसर में शौचालय उपलब्ध है। घर के परिसर में शौचालय की सुविधा सबसे ज्यादा साउथ वेस्ट जिले में 98.22 प्रतिशत है।

82 % के घर तक पीने का पानी पहुंचता

82 प्रतिशत लोगों के घर तक पानी पहुंचता है। दिल्ली में 70.98 प्रतिशत को नल से घर के अंदर पानी मिलता है। दिल्ली में 18.6 प्रतिशत लोगों को अभी भी नल से पानी नहीं पहुंच पाया है। 7.76 प्रतिशत बॉटल से पानी मंगाते है। 4.42 प्रतिशत को ट्यूबवेल का पानी मिलता है। 5.04 प्रतिशत को टैंकर से पानी सप्लाई होती है।

40.78 प्रतिशत घरों में राशन कार्ड

सर्वे के अनुसार खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने 40.78 प्रतिशत घरों को राशन कार्ड जारी किया है। इनमें से 85.98 प्रतिशत ही राशन कार्ड से राशन लेते है। सबसे ज्यादा उत्तर-पूर्व दिल्ली के राशनकार्ड धारी राशन दुकान से राशन लेते है। इनका प्रतिशत 90.74 है।

6.59 प्रतिशत के पास कोई वाहन नहीं

सर्वेक्षण के अनुसार दिल्ली में 6.59 प्रतिशत लोगों के पास कोई वाहन नहीं है। दिल्ली में 51.78 प्रतिशत लोगों के दो पहिया या चार पहिया वाहन है। इसमें से 40.35 प्रतिशत के पास दोपहिया है। वहीं 4.34 प्रतिशत के पास चार पहिया वाहन है। 6.59 प्रतिशत लोग ऐसे हैं, जिनके पास दोनों वाहन मौजूद है।



आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें
फाइल फोटो

0 Comments